हेल्थ
Trending

AC से तुरंत धूप में निकला हो सकता है खतरनाक, बन सकते हैं ब्रेन हेमरेज के शिकार...

Sudden temperature change and its dangerous effects: Know from experts.

गर्मी की बढ़ती मार जानलेवा होती जा रही है। रोज कितने ही लोगों की लू लगने से मौत की खबरें सामने आ रही हैं।

ऐसे में गर्मी से बचने के लिए लोग एसी का सहारा लेते हैं। इसके कारण कई बार अचानक से कम तापमान से तेज धूप में जाना पड़ सकता है।

लेकिन क्या इसकी वजह से Brain Hemorrhage की समस्या हो सकती है। आइए जानते हैं एक्सपर्ट से। गर्मी अपना कहर ढाने में कोई कसर नहीं छोड़ रही है।

दिन प्रतिदिन बढ़ती गर्मी के कारण लोगों का हाल बेहाल हो रखा है। कितने ही लोगों की लू लगने की वजह से मौत की खबरें भी सामने आ रही हैं।

रोज तापमान नई ऊंचाईयों को छू रहा है और सालों के रिकॉर्ड को तोड़ रहा है। ऐसे में गर्मी से अपनी जान बचाने के लिए लोग AC का सहारा ले रहे हैं।

एसी की मदद से घर, दफ्तर आदि का तापमान ठंडा रहता है, जिससे गर्मी से राहत मिलती है, लेकिन काम के लिए बाहर तो जाना ही पड़ता है।

ऐसे में एसी की ठंडक को छोड़कर, बाहर की चिलचिलाती धूप में अचानक से कदम रखना न केवल सर्द-गर्म के जोखिम को बढ़ाता है, बल्कि यह और भी कई गंभीर नुकसान पहुंचा सकता है।

जानकारी के अनुसार,,अगर अचानक ठंडे ऐसी के माहौल को छोड़कर सीधी धूप में जाने से होने वाले तापमान में बदलाव के कारण Brain Heamorrhage नहीं होता है, लेकिन यह कुछ लोगों के लिए जोखिम जरूर बढ़ा सकता है।

ब्रेन हेमरेज या दिमाग में ब्लीडिंग होने के पीछे कुछ फैक्टर्स जिम्मेदार होते हैं, जैसे- हाई ब्लड प्रेशर, एन्यूरिजम, रक्त धमनियों में ब्लॉकेज या सिकुड़न, ब्लीडिंग डिसऑर्डर, लिवर की बीमारियां और ब्रेन ट्यूमर।

जानिए किन लोगों को होता है ब्रेन हेमरेज का खतरा?

इसलिए वे व्यक्ति जिन्हें सेहत से जुड़ी समस्याएं हैं, जैसे- हाई ब्लड प्रेशर या धमनियों से जुड़ी कोई परेशानी, तो ऐसे अचानक तापमान में बदलाव के कारण इनकी स्थिति गंभीर हो सकती है।

तापमान में अचनाक इतने बदलाव की वजह से ब्लड वेसल्स से जुड़ी परेशानियां गंभीर रूप ले सकती हैं।

अगर बात करें ब्रेन हेमरेज की, तो अचानक से तेज गर्मी में जाने की वजह से शरीर पर अनचाहा तनाव पड़ता है, जिसके कारण ब्लड प्रेशर बढ़ सकता है।

इतना ही नहीं, यह अन्य साइकोलॉजिक स्ट्रेस रिस्पॉन्स, जैसे अचानक ब्लड वेसल्स में सिकुड़न की वजह से हेमरेज का खतरा बढ़ सकता है।

कैसे करें गर्मी में बचाव?

इसलिए अगर व्यक्ति स्वस्थ है, तो ऐसे एसी के ठंडे वातावरण से अचनाक तेज धूप में जाने की वजह से गर्मी से संबंधित परेशानियां हो सकती हैं, लेकिन इनमें ब्रेन हेमरेज शामिल नहीं है।

हालांकि, बढ़ती गर्मी में प्राथमिकता यह होनी चाहिए कि कम से कम बाहर धूप में निकलें, हाइड्रेटेड रहें, हवादार, हल्के रंग के सूती के कपड़े पहने और कोशिश करें कि अचानक तापमान में परिवर्तन न करें, खासकर वे लोग, जिन्हें कोई स्वास्थ्य समस्या है।

Related Articles

Back to top button