खोजी नारद कहिंन
Trending

बड़ी ख़बर,,जानलेवा बन सकती है मलेरिया की बीमारी, इसे फैलने से रोकने के लिए अपनाएं ये टिप्स...

Malaria: A deadly disease spread by mosquitoes, measures for prevention and treatment.

मलेरिया मच्छरों से वाली एक खतरनाक बीमारी है जो गंभीर हालातों में मौत का कारण तक बन जाती है।

हालांकि इस बीमारी को रोका जा सकता है और इसका इलाज भी संभव अगर समय इलाज किया जाए।

ऐसे में इसे लेकर जागरूकता फैलाने के मकसद से हर साल 25 अप्रैल को वर्ल्ड मलेरिया  मनाया जाता है।

तापमान में बढ़ोतरी के साथ ही मच्छरों का आतंक भी काफी बढ़ गया है।

मच्छर कई गंभीर बीमारियों की वजह बन सकते हैं। मलेरिया इन्हीं गंभीर बीमारियों में से एक है, जो गंभीर मामलों में मौत तक का कारण बन सकती है।

मलेरिया के अलावा मच्छर डेंगू और चिकनगुनिया जैसी बीमारियों के लिए जिम्मेदार होते हैं।

हालांकि, मलेरिया इनमें सबसे आम हैं।

ऐसे में इस बीमारी के प्रति जागरूकता फैलाने के मकसद से हर साल 25 अप्रैल को वर्ल्ड मलेरिया  मनाया जाता है।

ऐसे में इस मौके पर आज जानेंगे कुछ ऐसे तरीकों के बारे में, जिनकी मदद से आप मलेरिया को फैलने से रोक सकते हैं।

क्या है मलेरिया : वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन (WHO) के मुताबिक मलेरिया कुछ प्रकार के मच्छरों से मनुष्यों में फैलने वाली एक जानलेवा बीमारी है।

यह अधिकतर उष्णकटिबंधीय देशों में पाया जाता है। इस बीमारी को रोका जा सकता है और इसका इलाज भी संभव है। यह संक्रमण पैरासाइट के कारण होता है और एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में नहीं फैलता है।

मलेरिया के लक्षण :  मलेरिया के सबसे आम शुरुआती लक्षणों में बुखार, सिरदर्द और ठंड लगना शामिल हैं। इसके लक्षण आमतौर पर संक्रमित मच्छर द्वारा काटे जाने के 10-15 दिनों के भीतर शुरू होते हैं। इसके अन्य लक्षणों में निम्न शामिल हैं।

अत्यधिक थकान, बेहोशी आना, सांस लेने में दिक्क्त, डार्क या खून वाली यूरिन , पीलिया (आंखों और त्वचा का पीला पड़ना),  असामान्य ब्लीडिंग। 

मलेरिया को रोकने उपाय?

मच्छरों के काटने से रोकने के लिए लंबी आस्तीन, लंबी पैंट और मोजे का इस्तेमाल करें। चूंकि मच्छर सुबह और शाम के समय सबसे ज्यादा सक्रिय होते हैं, इसलिए विशेष रूप से इन घंटों के दौरान इस सुरक्षात्मक कपड़े पहनने की सलाह दी जाती है।

इसके अवाला मच्छर गहरे रंग की ओर आकर्षित होते हैं, इसलिए हल्के रंग पहनना फायदेमंद साबित होगा।

सोते समय मलेरिया को फैलने से रोकने का सबसे प्रभावी तरीका, विशेष रूप से उन क्षेत्रों में जहां यह बीमारी आम है, इंसेक्ट रिपेलेंट और मच्छरदानी का उपयोग करना है।

इनके इस्तेमाल से रात के समय मच्छरों के हमलों की संभावना को कम हो जाती है।

मच्छरों को पनपने से रोकने के लिए, अपने घर के आसपास के कंटेनरों में जमा पानी को खाली कर दें।

इसमें बाल्टियां, पुराने टायर, फूल के बर्तन और पानी इकट्ठा करने वाले अन्य कंटेनर शामिल हैं।

अगर आप ऐसी जगह रहते हैं, जहां मलेरिया का ट्रांसमिशन काफी मजबूत है, तो आप IRS के इस्तेमाल के बारे में सोच सकते हैं, जिसमें घरों की दीवारों और छत पर मच्छरों को मारने के लिए कीटनाशकों का छिड़काव किया जाता है।

अगर आपको मलेरिया के किसी भी लक्षण का अनुभव हो, जिसमें बुखार, सिरदर्द, ठंड लगना और उल्टी शामिल है, तो तुरंत सहायता लें।

  • जल्दी निदान एवं उपचार मिलने पर बीमारी फैल नहीं सकती।
  • रोजाना सनस्क्रीन जरूर लगाएं और नियमित रूप से नहाना भी जरूरी है।
  • अपने घरों और ऑफिस में कमरों को वातानुकूलित रखें।
  • अगर आप बाहर या कहीं खुले में सो रहे हैं, तो सोते समय मच्छरदानी का इस्तेमाल करें।
  • घर के आसपास पानी न जमा होने दें और घर के आसपास जमा पानी हटा दें।
  • ऐसी जगह जहां पानी भरा हुआ है, ऐसे क्षेत्रों में घूमने या रहने से बचें।

Related Articles

Back to top button