National
Trending

महिलाओं में हार्ट अटैक के लक्षण पुरुषों से अलग हो सकते हैं,, एक क्लिक में जानें संकेतों को..

Heart attack: Know the symptoms and prevention measures.

हार्ट अटैक एक ऐसी कंडिशन है जिसमें वक्त पर मदद न मिले तो व्यक्ति की मौत भी हो सकती है। इसलिए जरूरी है कि हार्ट हेल्थ का ख्याल रखा जाए।

हार्ट अटैक के लक्षणों को पहचानकर वक्त पर इलाज किया जा सकता है। आइए जानते हैं किन संकेतों की मदद से हार्ट अटैक की पहचान की जा सकती है।

वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन की एक रिपोर्ट के मुताबिक, साल 2019 में कार्डियोवैस्कुलर डिजीज की वजह से 1.79 करोड़ लोगों ने अपनी जान गंवाई थी और इनमें 85 प्रतिशत हार्ट अटैक और स्ट्रोक के मामले थे।

इस आंकड़े को देखकर आप यह अंदाजा लगा सकते हैं कि हार्ट अटैक जैसी गंभीर समस्या के बारे में सही जानकारी होना कितना जरूरी है, ताकि इससे वक्त रहते जान बचाने में मदद मिल सके।

जानकारी के मुताबिक, हार्ट अटैक एक ऐसी जानलेवा कंडिशन है, जिसमें दिल के कुछ हिस्सों तक सही मात्रा में ब्लड न पहुंच पाने की वजह से वहां की मांसपेशियां मरने लगती हैं।

इसके कारण दिल ब्लड पंप करने में असक्षम हो जाता है, जिस वजह से शरीर के अन्य हिस्सों तक ब्लड नहीं पहुंच पाता।

वैसे तो इसके पीछे कई कारण हो सकते हैं, लेकिन सबसे प्रमुख वजह है आर्टरीज में प्लेग इकट्ठा होना।

प्लेग आर्टरीज को ब्लॉक कर देता है, जिससे ब्लड उससे ठीक से पास नहीं हो पाता और इसके कारण हार्ट अटैक आ सकता है।

हार्ट अटैक आने पर अगर व्यक्ति को वक्त पर इलाज न मिले, तो दिल को कुछ गंभीर नुकसान हो सकते हैं और कई मामलों में मौत भी हो सकती है।

पुरुषों में हार्ट अटैक के लक्षण

सीने के बीच में या बाईं ओर दर्द होना, जो बाएं हाथ तक फैल रहा हो।

बहुत अधिक पसीना आना। 

बेचैनी या घबराहट जैसा महसूस होना। 

महिलाओं में हार्ट अटैक के लक्षण। 

मितली आना। 

धुंधला दिखना। 

असहज महसूस होना। 

चक्कर आना। 

दाएं हाथ में या पीठ में दर्द होना

सीने के दाईं ओर दर्द होना इसके अलावा, कुछ सामान्य लक्षण होते हैं, जैसे सीने पर दबाव महसूस होना, सीने में जकड़न, जबड़ों और गर्दन में दर्द होना, चक्कर आना, सांस लेने में तकलीफ होना, हाथ में झंझनाहट जैसा महसूस होना।

जानकारी के अनुसार,,हार्ट अटैक में सीने के सिर्फ बाईं ओर ही दर्द होता है, लेकिन ऐसा बिल्कुल जरूरी नहीं है। हार्ट के नर्व्स के फैलाव के कारण जबड़ों से लेकर नाभी तक किसी भी हिस्से में दर्द हो सकता है।

इसलिए ऐसे कोई भी लक्षण महूसस हों, तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करना बेहद जरूरी है।

कैसे करें हार्ट अटैक से बचाव?

हार्ट अटैक के लक्षण को कम करने के लिए यह बेहद जरूरी है कि हम हेल्दी लाइफस्टाइल फॉलो करें।

रोजाना 30 से 45 मिनट तक एक्सरसाइज करें। वॉकिंग, रनिंग, स्विमिंग, योग, स्ट्रेंथ ट्रेनिंग आदि की मदद से हार्ट को हेल्दी रखने में काफी मदद मिलेगी।

अपनी डाइट में फल, सब्जियों, साबुत अनाज, डेयरी प्रोडक्ट्स को शामिल करें और जंक व प्रोसेस्ड फूड्स से जितनी हो सके, उतनी दूरी बनाएं।

स्मोकिंग करने से सिर्फ फेफड़ों को ही नुकसान नहीं होता है, बल्कि आर्टरीज भी डैमेज हो सकती हैं, जिसके कारण हार्ट अटैक का खतरा रहता है। इसलिए स्मोकिंग बिल्कुल भी न करें।

ब्लड प्रेशर, कोलेस्ट्रॉल और ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल करना बेहद जरूरी है, नहीं तो इनकी वजह से दिल से जुड़ी परेशानियों का रिस्क बढ़ जाता है।

नियमित चेकअप करवाना भी हार्ट हेल्थ के लिए बेहद जरूरी है।

Related Articles

Back to top button