INDIA
Trending

"राहुल गांधी की संसद सदस्यता की बहाली पर कांग्रेसियों ने बांटे लड्डू। ।

A new conflict has taken place in the field of politics, when Congressmen distributed laddus on the restoration of Parliament membership of Congress leader Rahul Gandhi.

इस फैसले के बाद कांग्रेस के कार्यकर्ता और नेताओं ने खुशी का इजहार करते हुए मिष्ठान वितरण कर ढोल नगाड़ों की थाप पर खुशी का समर्थन किया।

इस फैसले के साथ ही सुप्रीम कोर्ट ने राहुल गांधी को दोषी ठहराने के साथ ही सजा पर भी रोक लगा दी।

कांग्रेसी नेताओं ने फैसले का स्वागत करते हुए कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने लोकतंत्र को बचाने वाला फैसला दिया है और सत्य का झंडा लहरा दिया है।

उन्होंने मोदी सरकार को तंज कसते हुए कहा कि राहुल गांधी के खिलाफ षड्यंत्र के तहत दो साल की सजा दिलाई गई थी, लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने उस फैसले पर रोक लगाई है।

इस फैसले के साथ राहुल गांधी को संसद सदस्यता मिली है और यह निश्चित रूप से विश्वास की जीत है।

कांग्रेसी नेताओं ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले का धन्यवाद अदा किया और इस फैसले को लोकतंत्र की रक्षा के लिए महत्वपूर्ण ठहराया।

इस फैसले के चलते देशवासियों में उत्साह का माहौल बना हुआ है और वे खुशी के साथ ढोल नगाड़ों की थाप पर नाचते हुए इस फैसले का समर्थन कर रहे हैं।

कांग्रेसी नेता मुशर्रफ हुसैन, संदीप सहगल, नरेंद्र चंद बाबा और अन्य नेताओं ने सुप्रीम कोर्ट के निर्णय को सराहा और इसे लोकतंत्र की जीत बताया। उन्होंने राहुल गांधी के साथ खड़े होकर देश की जीत के लिए एकजुटता का संकेत भी दिया।

कांग्रेस के कुछ अन्य नेता भी इस खुशी में शामिल हुए और इस खुशी का इजहार करते हुए मिष्ठान वितरण कर ढोल नगाड़ों की थाप पर नाचते हुए इस फैसले का समर्थन किया।

काशीपुर के कांग्रेस अध्यक्ष मुशर्रफ हुसैन ने भी इस खुशी के मौके पर अपने सहयोगियों के साथ मिष्ठान वितरण किया और खुशी मनाई।

इस फैसले के बाद देशभर में कांग्रेसियों की उत्साह भरी लहर देखी जा रही है, जो इस फैसले को एक जीत के रूप में स्वीकार रहे हैं।

सुप्रीम कोर्ट ने दोषसिद्धि पर रोक लगाने से राहुल गांधी को संसद सदस्यता की वापसी का रास्ता साफ कर दिया है और इस फैसले के साथ ही उन्हें न्याय मिला है।

इस फैसले के चलते राहुल गांधी को वायनाड लोकसभा सीट से सदस्यता मिली है और यह उन्हें एक बड़ी जीत के रूप में मिली है।

इस फैसले के साथ ही सुप्रीम कोर्ट ने दोषसिद्धि पर भी रोक लगाई है और इससे लोकतंत्र को एक महत्वपूर्ण जीत मिली है।

यह फैसला देशवासियों के दिलों में खुशी की लहर उत्पन्न कर गया है और वे राहुल गांधी की संसद सदस्यता के फैसले का स्वागत करते हुए खुशी का इजहार कर रहे हैं।

इस फैसले के साथ ही कांग्रेसी नेताओं ने केंद्र की मोदी सरकार पर तंज कसते हुए उनके राष्ट्रीय नेता राहुल गांधी के साथ एकजुटता का संकेत भी दिया है।

इस फैसले के साथ ही सुप्रीम कोर्ट ने लोकतंत्र को बचाने वाला फैसला दिया है और इसे लोकतंत्र की जीत बताया है।

देशवासियों में खुशी का माहौल व्याप्त है और वे ढोल नगाड़ों की थाप पर खुशी का समर्थन कर रहे हैं।

इस फैसले के साथ ही कांग्रेस के अनेक नेता और कार्यकर्ता खुशी के साथ मिष्ठान वितरण कर ढोल नगाड़ों की थाप पर नाचते हुए खुशी का इजहार कर रहे हैं।

इस फैसले के साथ ही उन्होंने राहुल गांधी को संसद सदस्यता मिलने पर बधाई दी और सुप्रीम कोर्ट के निर्णय को सराहा।

इस फैसले के चलते राहुल गांधी की सजा पर रोक लग गई है और उन्हें लोकसभा की सदस्यता से अयोग्य ठहराया गया था।

लोकसभा सचिवालय ने आदेश जारी कर दो साल की सजा सुनाए जाने के ग्राउंड पर राहुल गांधी को संसद की सदस्यता समाप्त कर दी थी।

इस फैसले के साथ ही कांग्रेस के कुछ अन्य नेता भी इस खुशी में शामिल हुए और इस खुशी का इजहार करते हुए मिष्ठान वितरण कर ढोल नगाड़ों की थाप पर नाचते हुए इस फैसले का समर्थन किया।

उन्होंने इस फैसले को लोकतंत्र की जीत के रूप में स्वीकारा है और राहुल गांधी की संसद सदस्यता के फैसले को धन्यवाद दिया है।

इस फैसले के साथ ही कांग्रेस के कुछ अन्य नेता और कार्यकर्ता भी खुशी का इजहार करते हुए मिष्ठान वितरण कर ढोल नगाड़ों की थाप पर नाचते हुए इस फैसले का समर्थन किया।

इस फैसले के साथ ही उन्होंने राहुल गांधी को संसद सदस्यता मिलने पर बधाई दी और सुप्रीम कोर्ट के निर्णय को सराहा है।

इस फैसले के चलते राहुल गांधी की सजा पर रोक लग गई है और उन्हें लोकसभा की सदस्यता से अयोग्य ठहराया गया था।

लोकसभा सचिवालय ने आदेश जारी कर दो साल की सजा सुनाए जाने के ग्राउंड पर राहुल गांधी को संसद की सदस्यता समाप्त कर दी थी।

काशीपुर में खुशी की इस लहर में कांग्रेसी नेताओं ने मिष्ठान वितरण कर खुशी का इजहार किया और ढोल नगाड़ों की थाप पर नाचते हुए इस फैसले के समर्थन में उतरे।

इस फैसले के साथ ही उन्होंने राहुल गांधी को संसद सदस्यता मिलने पर बधाई दी और सुप्रीम कोर्ट के निर्णय को सराहा है।

फैसले के बाद देशभर में कांग्रेसियों में उत्साह का माहौल व्याप्त है और वे राहुल गांधी की संसद सदस्यता की बहाली के फैसले का समर्थन कर रहे हैं।

Related Articles

Back to top button